चैंपिंयस ट्रॉफी में 159 रनों की साझेदारी, मतलब जीत की गारंटी

चैंपिंयस ट्रॉफी में 159 रनों की साझेदारी, मतलब जीत की गारंटी

चैंपियंस ट्रॉफी-2017 में अबतक हुए मैचों ने यह साबित कर दिया कि क्रिकेट में नतीजों के पूर्वानुमान कभी भी शत प्रतिशत सटीक नहीं बैठते. लेकिन इस दौरान एक आश्चचर्यजनक संयोग ने वाकई चौंकाया है. एक जून से शुरू हुए टूर्नामेंट में अबतक 10 मैच खेले जा चुके हैं और इस दौरान 3 ऐसे मैच हुए जिनमें 159 रनों की पार्टनरशिप निर्णायक साबित हुई हैं. यानी जिस टीम की ओर से शीर्ष क्रम में 159 रनों की साझेदारी हुई, वह टीम जीती.

1. इंग्लैंड vs बांग्लादेश 

इंग्लैंड के हेल्स-रूट ने दूसरे विकेट के लिए 159 रन जोड़े

मौजूदा चैंपियंस ट्रॉफी का पहला मैच इंग्लैंड और बांग्लादेश के बीच खेला गया. बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 305/6 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया. लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड ने 6 रन पर पहला विकेट खो दिया, लेकिन एलेक्स हेल्स और जो रूट की जोड़ी ने दूसरे विकेट के लिए 159 रनों की साझेदारी कर मैच का रुख पलट दिया. इंग्लैंड ने इस साझेदारी की बदौलत वह मैच 8 विकेट से जीत लिया.

2. भारत vs श्रीलंका 

श्रीलंका के दनुष्का-मेंडिस ने दूसरे विकेट के लिए 159 रन जोड़े

टूर्नामेंट का आठवां मैच भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 321/6 का विशाल स्कोर खड़ा किया. लेकिन दनुष्का गुणाथिलका और कुशल मेंडिस ने दूसरे विकेट के लिए 159 रनों की पार्टनरशिप कर श्रीलंका को जीत की राह पर डाल दी. भारत ने उसी साझेदारी की वजह से वह मुकाबला 7 विकेट से गंवा दिया.

3. इंग्लैंड vs ऑस्ट्रेलिया 

इंग्लैंड के स्टोक्स-मॉर्गन ने चौथे विकेट के लिए 159 रन जोड़े

टूर्नामेंट का 10वां मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया. ऑस्ट्रेलिया ने उस अहम मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करते हुए 277/9 का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया. लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड ने 35 रन पर तीन विकेट खो दिए, लेकिन कप्तान इयोन मॉर्गन और बेन स्टोक्स की जोड़ी ने चौथे विकेट के लिए 159 रनों की साझेदारी कर  पासा पलट दिया. आखिरकार ऑस्ट्रेलिया वह मैच हारकर टूर्नामेंट से ही बाहर हो गया.