IPL 2018 की ट्रोफ़ी लगी चेन्नई सुपर किंग्स के हाथ

IPL 2018 की ट्रोफ़ी लगी चेन्नई सुपर किंग्स के हाथ

चेन्नई के सामने 179 रन का लक्ष्य था,पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करने के बाद यह उम्मीद की जा रही थी कि सनराइजर्स हैदराबाद फाइनल मैच में भी अपना दबदबा बनाये रखेगी. इसके पीछे कई वजह भी थी. टूर्नामेंट में हैदराबाद कई बार 150 से निचे स्कोर डिफेंड करने में कामयाब हुई थी. भुवनेश्वर कुमार और राशिद खान जैसे गेंदबाज़ विपक्ष के बल्लेबाजों के ऊपर हावी होने में कामयाब हए थे. फाइनल मैच में 178 रन कोई छोटा स्कोर नहीं था. पहले ओवर में भुवनेश्वर कुमार ने शेन वॉटसन को कई बार चकमा दिया था और पहला ओवर मेडेन भी फेंका. एक तरफ चेन्नई ने अपने स्टार बल्लेबाज फाफ डु प्लेसिस का विकेट गवां दिया था दूसरे तरफ वॉटसन बार बार बीट हो रहे थे. ऐसा लग रहा था की हैदराबाद आराम से यह मैच जीत जाएगी. पांच ओवर के बाद चेन्नई सुपर किंग्स का स्कोर सिर्फ एक विकेट 20  रन था. आखिरी 15 ओवर में 10.60 के रन-रेट से 159 रन की जरुरत थी. 

वॉटसन की आतिशी पारी  : अपना खाता खोलने के लिए वॉटसन ने 11 गेंदों का सामना किया और एक बार सेट हो जाने के बाद वॉटसन ने मैदान के चारों तरफ चौके और छक्के की झड़ी लगा दी.  दस ओवर के बाद चेन्नई सुपर किंग्स का स्कोर 80 रन था और वॉटसन 32 गेंदों का सामना करते हुए 45 रन पर खेल रहे थे लेकिन वॉटसन की आतिशी पारी के बदौलत चेन्नई 9 गेंद शेष रहते हुए इस मैच को जीत गई. वॉटसन ने सिर्फ 57 गेंदों का सामना करते हुए 117 रन बनाए. आखिर 72 रन वॉटसन ने सिर्फ 25 गेंदों में बनाए. अपनी शानदार पारी की वजह से वॉटसन 'मैन ऑफ़ द मैच भी बने.