विराट कोहली नहीं चाहते कि टीम इंडिया के तेज गेंदबाज आईपीएल खेलें, बीसीसीआई चिंतित

विराट कोहली नहीं चाहते कि टीम इंडिया के तेज गेंदबाज आईपीएल खेलें, बीसीसीआई चिंतित

कप्तान विराट कोहली चाहते हैं कि टीम इंडिया के प्रमुख तेज गेंदबाज आईपीएल में हिस्सा न लें ताकि विश्व कप के लिए वह ताजा और फिट रहें। बीसीसीआई के सूत्रों ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में बताया कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित प्रशासकों की समिति (सीओए) से बैठक में कोहली ने अहम सलाह दी।

सूत्र ने कहा, 'कोहली ने सलाह दी कि प्रमुख तेज गेंदबाज जैसे जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और अन्य, जो अगले साल विश्व कप में खेल सकते हैं, उन्हें टी20 टूर्नामेंट का हिस्सा नहीं होना चाहिए। हालांकि, अभी कोहली की इस गुजारिश पर कोई फैसला नहीं लिया गया है।'

विश्व कप अगले साल इंग्लैंड में 30 मई से 14 जुलाई तक होना है जबकि आईपीएल की शुरुआत अप्रैल के पहले सप्ताह में होने की संभावना है। यह टी20 लीग मई के तीसरे सप्ताह तक चल सकती है। टीम इंडिया की तरफ से सलाह आई है कि बीसीसीआई उन खिलाड़ियों की क्षतिपूर्ति करे जो विश्व टूर्नामेंट की खातिर आईपीएल में हिस्सा नहीं लेंगे। अन्य लोगों का मानना है कि यह तेज गेंदबाज आईपीएल के पहले या दूसरे हिस्से में खेले ताकि पर्याप्त आराम मिल सके।

तेज गेंदबाजों के बारे में विचार भारत के इंग्लैंड और अन्य विदेशी दौरों पर खराब प्रदर्शन के संबंध में आयोजित बैठक के दौरान हुआ। इस बैठक में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, कोच रवि शास्त्री, चयनकर्ताओं के चेयरमैन एमएसके प्रसाद व सीओए के सदस्य विनोद राय और डायना इडुल्जी शामिल हुए। 

यह अभूतपूर्व गुजारिश हालांकि बीसीसीआई और आईपीएल फ्रेंचाइजियों के बीच गले की हड्डी बन सकती है क्योंकि इन्हें मोटी रकम पर खरीदा गया है। सीओए ने आईपीएल के मुख्य संचालन अधिकारी हेमंग अमीन से परामर्श किया कि ऐसा फैसला लेना चाहिए या नहीं। पता चला है कि अमीन ने कहा कि वह 15 नवंबर को समाप्त हो रही खिलाड़ियों की ट्रांसफर विंडो से पहले ही इस बारे में फ्रेंचाइजियों को जानकारी दे। सूत्र ने कहा, 'कई सलाह आईं। खिलाड़ियों ने भी अपने विचार रखे, लेकिन कोई फैसला नहीं लिया जा सका। अगर जरूरत पड़ी तो इसमें पर्याप्त समय लगेगा।'

विराट कोहली की सलाह मानने से सबसे बड़ा घाटा मुंबई इंडियंस को होगा, जिसे बुमराह और हार्दिक पांड्या की सेवाएं नहीं मिलेंगी। यह दोनों ही टीम इंडिया के प्रमुख तेज गेंदबाजों में से एक हैं। बता दें कि कोहली, रोहित और रहाणे ने बल्लेबाजों के लिए कोई गुजारिश नहीं की। वहीं इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी 1 मई को स्वदेश लौटेंगे क्योंकि वह विश्व कप के अभ्यास शिविर में हिस्सा लेंगे।