सेल्फी के दीवानो की वजह से टूटी विराट कोहली की वैक्स स्टेचू

सेल्फी के दीवानो की वजह से टूटी विराट कोहली की वैक्स स्टेचू

दिल्ली में स्थित मैडम तुसाद म्यूजियम में बुधवार को विराट कोहली की वैक्स स्टैचू अनावरण किया गया था, जिसके एक दिन बाद ही पुतले के कान तोड़ दिए. राजधानी में प्रशंसकों के लिए कोहली का वैक्स स्टैचू एक बड़ा आकर्षण बन गया है और अनावरण के दिन से ही वैक्स स्टैचू के साथ सेल्फी लेने की होड़ लग गई.

सेल्फी लेने की इस भागमभाग में किसी ने पुतले का दाहिना कान तोड़ दिया. मैडम तुसाद के अधिकारी ने इसकी जानकारी दी.

कोहली का यह पुतला उन्हें बल्लेबाज़ी करते हुए दर्शाया गया है. उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम की जर्सी में दर्शाया गया है. हालांकि, इसमें उन्होंने हेलमेट नहीं पहना है.

बता दें कि मैडम तुसाद म्यूजियम में जगह पाने वाले विराट तीसरे खिलाड़ी हैं. इसके पहले यहां कपिल देव और सचिन तेंदुलकर के मोम के पुतले लगाए जा चुके हैं.

गौरतलब है कि इस म्यूजियम के एक खास नियम के मुताबिक लोग अपने पसंदीदा वैक्स स्टैचू के पास जाकर उसे देख सकते हैं और उसके साथ सेल्फी ले सकते हैं. जबकि किसी अन्य म्यूजियम में ऐसा नहीं है.



मर्लिन एंटरटेनमेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के महाप्रबंधक और निदेशक अंशुल जैन ने कहा था कि हम सभी जानते हैं कि यहां क्रिकेट और क्रिकेट खिलाड़ियों के प्रति लोगों में किस प्रकार का जुनून है. कोहली आज के क्रिकेट के स्टार हैं और विश्व भर में उनके फैन्स की भरमार है. इस प्यार के बढ़ने के कारण ही मैडम तुसाद दिल्ली में शामिल करना एक ज़रूरी फैसला हो गया.

अंशुल ने कहा कि कोहली के पुतले के निर्माण में छह माह का समय लगा और 20 कलाकारों ने मिलकर उनके इस मोम के पुतले को तैयार किया. इसके लिए उनके 200 नाप लिए गए और कई फोटो भी खींची गई. उनका यह पोज़ उनकी उपलब्धियों को दर्शाता है.

अंशुल ने कहा कि पुतले की एक फोटो उन्होंने कोहली को भेजी थी, जिसके देखकर भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान बेहद खुश हुए. कोहली ने कहा, 'मैं इसके लिए किए गए काम और प्रयास की सराहना करता हूं. मैडम तुसाद का मुझे चुनना जीवन का एक अतुलनीय अनुभव है. फैन्स के प्यार और समर्थन का मैं आभारी हूं.