देवी के प्यार में पागल थे जितेन्द्र, परिवार टूटने की आई नौबत तो लेना पड़ा ये फैसला

देवी के प्यार में पागल थे जितेन्द्र, परिवार टूटने की आई नौबत तो लेना पड़ा ये फैसला

बॉलीवुड एक्टर जितेन्द्र का आज 76वां जन्मदिन है। जितेंद्र का जन्म 7 अप्रैल 1942 को पंजाब के अमृतसर में हुआ था। करीब चार दशक तक बॉलीवुड में सक्रिय रहे इस अभिनेता ने साल 1960 से लेकर 1990 तक 200 फिल्में की।

हेमा मालिनी और जितेन्द्र ने एक साथ कई फिल्में की हैं और दोनों के अफेयर के किस्से भी खूब सुर्खियों में रहे। ऐसी खबरें भी आईं कि उस वक्त जितेन्द्र और हेमा मालिनी की शादी लगभग तय हो चुकी है। लेकिन हेमा मालिनी से पहले अगर किसी ने जितेन्द्र के दिन पर दस्तक दी तो वो थीं श्रीदेवी।

साल 1983 में रिलीज हुई फिल्म 'हिम्मतवाला' से ही श्रीदेवी को हिंदी फिल्मों में पहचान मिली थी। कहा जाता है कि इस फिल्म के निर्देशक के.राघवेंद्र राव से जितेन्द्र ने ही श्रीदेवी को फिल्म में कास्ट करने की बात कही थी। वहीं दूसरी तरफ जब श्रीदेवी को जितेन्द्र के साथ 'हिम्मतवाला' के लिए साइन किया गया तो वह इस बात से बेहद खुश हुईं क्योंकि बॉलीवुड में आने से पहले से ही श्रीदेवी जितेन्द्र की बड़ी फैन थीं लेकिन जितेन्द्र भी श्रीदेवी से प्यार करने से खुद को दूर नहीं रख पाए।

'हिम्मतवाला' जबरदस्त हिट रही और ये जोड़ी बॉलीवुड की हॉट केक बन गयी। जल्द ही दोनों के रोमांस के चर्चे भी आम हो गए। जितेन्द्र ने जैसे ही अपनी चाहत का इजहार किया तो बात जितेन्द्र की पत्नी शोभा कपूर तक पहुंच गई। शोभा को इस बात की भी खबर थी कि जितेन्द्र के कहने पर ही श्रीदेवी को उनके साथ कास्ट किया जाता है।

इसके बाद शोभा का धैर्य जबाव दे गया और दोनों के बीच काफी तनाव बढ़ गया। इस तनाव को दूर करने को लेकर जब जितेन्द्र ने श्रीदेवी को अपने घर बुलाकर अपनी पत्नी से मिलवाया, तो शोभा कपूर और बेटी एकता कपूर ने उनकी ऐसी खातिरदारी की जिसे श्रीदेवी सालों बाद भी नहीं भुला पाई और यही मुलाकात जितेन्द्र और श्रीदेवी के रिश्ते में खटास की वजह बन गई।