भारतीय योग गुरु कुछ इस तरह विदेशों में बढ़ा रहे हैं अपने देश का मान

भारतीय योग गुरु कुछ इस तरह विदेशों में बढ़ा रहे हैं अपने देश का मान

पूरी दुनिया 'विश्व योग दिवस' मनाने की तैयार में जुट चुकी है, 21 जून को मनाया जाएगा. वहीं, इस दिन को सफल होने के लिए भारत सरकार बहुत सारे कदम भी उठा रही है, लेकिन सरकार के अलावा भारत के कई अन्य योग गुरु भी इस बड़े दिन की तैयारी शुरू कर दी है. इसमें कोई शक नहीं कि पूरे भारत से कई योग गुरु अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना निशान छोड़ रहे हैं.

उन्हीं योग गुरुओं में एक नाम उत्तराखंड राज्य के विनोद रावत का है, जो जापान में योग सिखाते हैं और वहां के लोग उन्हें योगी विनी के नाम से जानते हैं. वह दुनियाभर में भारतीय परंपराओं और योग को फैलाना चाहते हैं. वह योगी विनी के नाम पर ओसाका (जापान) और ऋषिकेश (भारत) में योग स्कूल चलाते हैं. 

मीडिया के साथ बातचीत में योगी विनी ने कहा, 'तनावपूर्ण जीवन शैली ने कई बीमारियों को जन्म दिया है. भारत योग के कारण स्वास्थ्य पर्यटन स्थल के रूप में उभर रहा है. कई विदेशियों ने अपना मूल्य महसूस किया है और अब सक्रिय रूप से इसका अभ्यास कर रहे हैं. वे न केवल योग सीखने के लिए भारत आते हैं बल्कि वह अपनी खुद की क्लासेस भी आयोजित करते हैं.'