पत्रकार ने पूछा SC का नोटिस आने पर सवाल तो सिद्धू चुटके बजाते हुए बोले- ‘आने दो नोटिस’

पत्रकार ने पूछा SC का नोटिस आने पर सवाल तो सिद्धू चुटके बजाते हुए बोले- ‘आने दो नोटिस’

पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को 30 साल पुराने रो़ड रेज मामले में सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. सुप्रीम कोर्ट रोड रेज मामले में उन्हें सुनाई गई सजा के मुद्दे पर फिर विचार करेगा. कोर्ट ने पीड़ित पक्ष की पुनर्विचार याचिका स्वीकार करते हुए सिद्धू को नोटिस जारी किया है. हालांकि, कोर्ट ने साफ किया है कि वह केवल सजा की मात्रा के मुद्दे पर ही विचार करेगा. आपको बता दे कि 15 मई को शीर्ष अदालत ने सिद्धू को इस मामले में राहत दी थी. 

दैनिक भास्‍कर में प्रकाशित खबर के अनुसार, इस मामले में जब सिद्धू से सवाल किया तो उन्होंने चुटकी बजाते हुए कहा कि ‘आने दो नोटिस, तुम अपना काम करो, मुझे अपना काम करने दो.’ एक बार फिर से ये मामला खुलने के बाद पंजाब की सियासत गरमा गई. विपक्ष ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सिद्धू को आड़े हाथों लेना शुरू कर दिया है.

 

आप के विधायक सुखपाल सिंह खैहरा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला कुछ भी हो पर ये जरूरी है कि पीड़ित परिवार को इंसाफ मिले. कोर्ट की तरफ से सिद्धू की सजा पर पुनर्विचार के फैसले से पीड़ित परिवार का आशा की किरण जागी है. 

आपको बता दें कि दिसंबर 1988 के रोड रेज मामले में सुप्रीम कोर्ट ने गत 15 मई को सिद्धू की अपील स्वीकार करते हुए उन्हें गैर इरादतन हत्या के आरोपों से बरी कर दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू को तीन साल के कारावास और एक लाख रुपये जुर्माने की हाईकोर्ट द्वारा सुनाई गई सजा का फैसला रद कर दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें पूरी तरह आरोपों से बरी नहीं किया था. न्यायमूर्ति जे. चेलमेश्वर व न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की पीठ ने साधारण चोट पहुंचाने में दोषी ठहराते हुए 1000 रुपये जुर्माने की सजा सुनाई थी.