एएमयू : नदीम के खिलाफ मोदी प्रेमी जसीम ने कराई एफआईआर

एएमयू : नदीम के खिलाफ मोदी प्रेमी जसीम ने कराई एफआईआर

एएमयू के पूर्व मीडिया सलाहकार व पत्रकार डॉ. जसीम मोहम्मद ने छात्र संघ के पूर्व उपाध्यक्ष नदीम अंसारी एवं उनके अज्ञात साथियों के खिलाफ थाना सिविल लाइंस में तहरीर देकर मुकदमा दर्ज करा दिया है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर हमले की धाराओं में यह मुकदमा दर्ज किया है। इससे पूर्व वह एसएसपी एवं एएमयू वीसी से भी लिखित में शिकायत कर चुके हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पर पुस्तक लिख चुके डॉ. जसीम का आरोप है कि समाचार संकलन के सिलसिले में सोमवार को वह एएमयू प्रशासनिक ब्लाक स्थित पीआरओ ऑफिस में गए थे। 8-9 हथियारबंद युवकों के साथ पहुंचकर नदीम अंसारी ने उनके साथ हाथापाई एवं दुर्व्यवहार किया तथा मोदी का कुत्ता कहकर संबोधित किया। यह भी कहा कि भाजपा वालों को कैंपस में नहीं घुसने देंगे। जसीम मोहम्मद ने पीआरओ आफिस से लौटते समय पीछा करने एवं जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप नदीम अंसारी पर लगाया है। उन्होंने जान पर खतरा की आशंका जताते हुए एसएसपी को शिकायत देकर नदीम एवं उसके साथियों के खिलाफ कार्रवाई करने एवं परिवार की सुरक्षा की गुहार लगाई है। एएमयू के पीआरओ को साजिशकर्ता बताया है। वहीं थाने में जसीम ने साक्ष्य के रूप में कई फोटो भी तहरीर के साथ दी है। पीआरओ जसीम के आरोप को गलत बता रहे हैं।

वहीं नदीम अंसारी ने डॉ. जसीम मोहम्मद द्वारा लगाए गए आरोप को बेबुनियाद करार दिया है। उनका कहना है कि जसीम मोहम्मद से बातचीत के दौरान कहीं भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम नहीं आया है और न ही मैंने यह कहा कि मोदी जी के किसी आदमी को कैंपस में नहीं आने दूंगा। जसीम मोहम्मद सरासर झूठा आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जसीम मोहम्मद बीजेपी की हमदर्दी हासिल करने के लिए झूठ बोल रहे हैं। उन्होंने कहा कि जसीम मोहम्मद की इतनी औकात नहीं कि मैं उन्हें देश के प्रधानमंत्री का आदमी कहूं। इधर, एसएसआई सिविल लाइंस के अनुसार जसीम मोहम्मद की तहरीर पर नदीम अंसारी व उनके अज्ञात साथियों पर हमले की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। बाकी जांच व साक्ष्यों के आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी।