जिंदगी से तंग आकर 3 लोगों ने खुदकुशी कर दुनिया को कहा अलविदा

जिंदगी से तंग आकर 3 लोगों ने खुदकुशी कर दुनिया को कहा अलविदा

भरतपुर में मंगवार को 3 लोगों ने अपनी जिंदगी से तंग आकर खुदकुशी कर इस दुनिया को अलविदा कर दिया और अपने पीछे परिवारजनों को रोता बिलखता छोड़ गए.

इन आत्महत्या की घटनाओं में एक सरकारी अध्यापिका भी शामिल है. भरतपुर की जवाहर नगर कॉलोनी में ससुरालीजनों से परेशान राजकीय विद्यालय में कार्यरत शिक्षिका रेखा ने अपने किराए के मकान में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली.

वहीं कुछ देर बाद ही मथुरा जिले के नरहोली गांव में रहने वाले युवक राजू ने भरतपुर की विजय नगर कॉलोनी निवासी अपने जीजा के घर आकर फांसी का फंदा लगाकर जान दे दी.

बताया जाता है कि युवक राजू का अपने गांव में किसी लड़की से प्रेम प्रसंग चल रहा था, जिसे उसके जीजा ने समझाने के लिए भरतपुर बुलाया था, लेकिन कुछ देर बाद ही युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

इसके अलावा उज्जैन थाना इलाके के रहीमपुर गांव निवासी महिला ब्रजेश ने गृह क्लेश के चलते घर में रखा जहरीला पदार्थ खा लिया, जिसकी उपचार के दौरान आरबीएम अस्पताल में मौत हो गई.

वहीं बयाना के वुडवार गांव निवासी एक युवक ने अपने गले में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया, लेकिन जैसे ही वह फंदे पर लटका, उसके परिजनों ने उसे देख लिया और उसे फंदे से उतार लिया.

गंभीर हालत में उसे उपचार के लिए आरबीएम जिला अस्पताल लेकर आए, जहां उसकी हालत में सुधार नहीं होने पर चिकित्सकों ने उसे जयपुर के लिए रेफर कर दिया. दिनभर आत्महत्याओं कि चलती रही गतिविधियां अस्पताल में चर्चा का विषय बनी रही.