त्रिपुरा में ‘कमल’ खिलने के बाद हिंसा, राज्य के कई इलाकों में तोड़फोड़ कर रहे भाजपा समर्थक

त्रिपुरा में ‘कमल’ खिलने के बाद हिंसा, राज्य के कई इलाकों में तोड़फोड़ कर रहे भाजपा समर्थक

त्रिपुरा में बेलोनिया में बुलडोजर की मदद से रूसी क्रांति के नायक व्लादिमिर लेनिन की मूर्ति को गिरा दिया गया. मूर्ति गिराने के दौरान लोग भारत माता की जय के नारे भी लगा रहे थे. त्रिपुरा के एसपी कमल चक्रवर्ती के मुताबिक सोमवार को दोपहर 3.30 बजे के करीब बीजेपी समर्थकों ने इसे अंजाम दिया. वहीं त्रिपुरा में बीजेपी की जीत के बाद से राज्य के कई इलाकों से तोड़फोड़ और हिंसा की खबरें भी आ रही हैं.  
सीपीएम का आरोप है कि बीजेपी और IPFT के कार्यकर्ता हिंसा कर रहे हैं. सीपीएम का कहना है कि बीजेपी और IPFT कार्यकर्ता न सिर्फ वामपंथी पार्टी के दफ़्तरों को निशाना बना रहे हैं बल्कि उनके कार्यकर्ताओं पर भी हमले किए जा रहे हैं. इधर ख़बर ये भी है कि लेफ़्ट पार्टी के कार्यकर्ता भी हमलों में शामिल हैं.  सोमवार को भी दो जगहों से हिंसा की ख़बर है जिसमें 3 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. कई थाना क्षेत्रों में धारा 144 भी लगाई गई है. व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति गिराने के मामले में बुलडोज़र के ड्राइवर को गिरफ़्तार कर लिया गया है और बुलडोज़र को भी सीज़ कर लिया गया है. एक न्यूज चैनल के अनुसार त्रिपुरा के एसपी कमल चक्रवर्ती (पुलिस कंट्रोल) ने जानकारी दी कि सोमवार दोपहर क़रीब 3.30 बजे बीजेपी समर्थकों ने बुलडोज़र की मदद से चौराहे पर लगी लेनिन की मूर्ति ढहा दी. एसपी के मुताबिक बीजेपी समर्थकों ने बुलडोज़र ड्राइवर को शराब पिलाकर इस घटना को अंजाम दिया. फ़िलहाल पुलिस ने ड्राइवर को गिरफ़्तार कर लिया है और बुलडोजर को सीज़ कर दिया है.