महंगे पेट्रोल-डीजल की मार झेल रहे उपभोक्ताओं को अब रसोई गैस भी सताएगी

महंगे पेट्रोल-डीजल की मार झेल रहे उपभोक्ताओं को अब रसोई गैस भी सताएगी

महंगे पेट्रोल-डीजल की मार झेल रहे उपभोक्ताओं को अब रसोई गैस भी सताएगी। दरअसल, तेल एवं गैस कंपनियों की ओर से घरेलू गैस सिलिंडर की कीमत 52 रुपये बढ़ा दी गई है। कॉमर्शियल सिलिंडर भी 82.50 रुपये महंगा हो गया है। नई दरें एक जून से प्रभावी होंगी। 14.2 किलो वाला गैर रियायती रसोई गैस सिलिंडर अब तक 734 रुपये में उपलब्ध होता था। एक जून से यह 786 रुपये में मिलेगा। इसकी कीमत 52 रुपये बढ़ गई है। 

इसी तरह से 19.2 किलो वाला कॉमर्शियल सिलिंडर अब 1,401 रुपये में मिलेगा। अब तक इसकी कीमत 1,318.50 रुपये थी। इसकी कीमत 82.50 रुपये बढ़ाई गई है। रसोई गैस सब्सिडी जून में प्रति सिलिंडर 288.28 रुपये मिलेगी। मई माह में यह राशि 240.72 रुपये थी। इसमें 47.56 रुपये की वृद्धि हुई है। 

महीने के अंत में समीक्षा 

हर महीने के अंत में तेल एवं गैस कंपनियां गैस कीमतों की समीक्षा करती हैं। इस वृद्धि से वैसे रसोई गैस उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ेगी जो बिना सब्सिडी सिलिंडर लेते हैं। इसके साथ ही कॉमर्शियल सिलिंडर का उपयोग करने वालों की भी मुसीबत बढ़ेगी। कॉमर्शियल सिलिंडर का उपयोग होटल, रेस्टोरेंट आदि में किया जाता है।

मई में एक रुपया घटी थी कीमत 

मालूम हो कि मई माह में गैर रियायती और कॉमर्शियल सिलिंडर की कीमतों में मामूली स्तर पर कमी आई थी। घरेलू रसोई गैस सिलिंडर की कीमत अप्रैल में 735 रुपये थी जो एक रुपये की कमी के साथ मई माह में 734 रुपये हो गई थी।