आजादी के दीवानों के सपने का भारत बनाने का संकल्प लें नौजवान : प्रधानमंत्री मोदी

आजादी के दीवानों के सपने का भारत बनाने का संकल्प लें नौजवान : प्रधानमंत्री मोदी

स्वामी विवेकानंद जयंती पर आयोजित राष्ट्रीय युवा महोत्सव का आयोजन यहां गौतमबुद्ध यूनिवर्सिटी में किया गया. इस महोत्सव को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया. प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय युवा दिवस को संबोधित करते हुए कहा कि पूरे देश में युवा महोत्सव मनाया जा रहा है. इस मौके पर युवा संसद का आयोजन किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि यह 22वां महोत्सव है. उन्होंने कहा कि आज युवा इस बात का भी चिंतन करें कि जब 25वां महोत्सव मनाया जाएगा तो उसका स्वरूप क्या होगा. उन्होंने कहा कि इस दौरान भारत अपनी आजादी का 75वां साल भी मना रहा होगा.

संकल्प से सिद्धि
प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार महोत्सव की थीम है 'संकल्प से सिद्धि'. उन्होंने कहा कि आखिर संकल्प क्या है और हमें क्या सिद्ध करना है. 2022 में हमारा देश आजादी के 75 साल पूरे कर रहा है. उन्होंने कहा कि उन्होंने खुद भी आजादी के आंदोलन के बारे में सिर्फ सुना और पढ़ा है. हमने आजादी के आंदोलन में हिस्सा नहीं लिया, क्योंकि हम आंदोलन के बाद पैदा हुए हैं. इसलिए हमारी जिम्मेदारी है कि हमें उन सपनों को पूरा करना है जो आजादी के दीवानों के देखे थे. 

आजादी के दीवानों के सपने का भारत
आजादी के दीवानों के अंग्रेजों के जुल्म सहे और देश के लिए अपना जीवन न्यौछावर कर दिया. जिस भारत के लिए उन्होंने यातनाएं सहन की थीं, उस भारत को बनाने के लिए संकल्प हमें ही लेना होगा. लेकिन वह भारत कैसा होगा, उसके बारे में हमें चिंतन करना होगा. उन्होंने युवाओं से कहा कि नौजवान अपने आसपास देखें और सोचें कि ऐसा क्या है जिसे बदला जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि बलदाव की यही सोच एक संकल्प बनेगी. उन्होंने कहा कि आज जो आप संकल्प लेंगे उसी दिशा में काम करते रहने से ही संकल्प सिद्ध होगा.

अपने संकल्प स्वयं लो
उन्होंने कहा कि आपको भी शिक्षा देने वाले बहुत मिलेंगे, लेकिन किस तरह की शिक्षा लेनी किस दिशा में जाना है, यह तय आपको खुद करना होगा. गौतमबुद्ध ने कहा था, 'अपना दीपक, अपना प्रकाश स्वयं बनो'. इसलिए आपको कुछ संकल्प लेकर नई शुरूआत करनी होगी. आपकी इस यात्रा में सरकार और पूरा देश आपके साथ है. 

नियोक्ता बनें नौजवान
प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 10 करोड़ लोगों के लोन मंजूर कर चुकी है. लोगों को बिना बैंक गारंटी 4 लाख करोड़ से भी ज्यादा का कर्ज दिया जा चुका है. इन पैसों से गांव, देहात, कस्बों में लोगों ने खुद के कारोबार शुरू किए हैं और अपने सपने पूरा कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमें भरोसा है कि देश का नौजवान जब ठान लेता है तो कुछ भी कर गुजर सकता है.

इस कार्यक्रम को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भी संबोधित किया.