AK 47 तस्‍करी में रडार पर नक्सली व सफेदपोश

AK 47 तस्‍करी में रडार पर नक्सली व सफेदपोश

बिहार और मध्य प्रदेश पुलिस समन्वय स्थापित कर सेना के एके-47 समेत अन्य हथियार खरीदने वालों की कुंडली खंगालने में जुट गई है। पुलिस शीघ्र ही आर्मी को पत्र लिखकर एके-47 के अलावा गायब अन्य हथियारों की जानकारी मांगेगी। यही नहीं, बिहार सरकार मामले में नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआइए) को भी जांच के लिए लिखने पर विचार कर रही है। हालांकि, एनआइए खुद से संज्ञान लेकर मामले की जांच शुरू कर सकती है। एनआइए के उच्चाधिकारी के अनुसार पूरे मामले पर नजर है। एनआइए पूरे मामले में स्वयं भी इनपुट जुटा रहा है।

दरअसल, मुंगेर एवं जबलपुर पुलिस को अबतक की पूछताछ और जांच में कई अहम सुराग मिले हैं। एके-47  चोरी व तस्करी के आरोपित आर्मरर पुरुषोत्तम रजक, उसके बेटे शीलेन्द्र, पत्नी चंद्रवती रजक, सीओडी के सीनियर स्टोर इंचार्ज सुरेश ठाकुर, खरीदार इमरान और शमशेर से कई चौंकाने वाली जानकारी मिल रही है। बिहार में 2012 से अबतक सौ से ज्यादा केवल एके-47 सप्लाई करने की पुष्टि हुई है। इसी को आधार बनाकर पुलिस ने आर्मी को पत्र लिखा है।