पाकिस्तान को भारत की दो टूक, आतंकवाद एवं वार्ता साथ साथ नहीं

पाकिस्तान को भारत की दो टूक, आतंकवाद एवं वार्ता साथ साथ नहीं

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि पाकिस्तान जब तक आतंकवाद का मार्ग नहीं छोड़ता, उसके साथ समग्र वार्ता नहीं हो सकती है. नरेंद्र मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर विदेश मंत्री ने कहा, 'हम पाकिस्तान से वार्ता के लिए हमेशा तैयार हैं, लेकिन आतंकवाद एवं वार्ता साथ साथ नहीं चल सकते. पाकिस्तान जबतक आतंकवाद का मार्ग नहीं छोड़ता, उसके साथ समग्र वार्ता नहीं हो सकती.' उन्होंने कहा, 'जब सीमा पर जनाजे उठ रहे हों तो बातचीत की आवाज अच्छी नहीं लगती.'
वह इस सवाल का जवाब दे रही थीं कि क्या पाकिस्तान में आम चुनाव के बाद भारत-पाकिस्तान वार्ता हो सकती है? हालांकि उन्होंने माना कि भारत और पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार आतंकवाद के विषय पर बातचीत करते हैं. विदेश मंत्री ने गिलगिट-बाल्टिस्तान पर प्रशासनिक नियंत्रण के संबंध में पाकिस्तान के 'गिलगिट-बाल्टिस्तान आदेश, 2018' को लेकर भी उस पर हमला किया और कहा कि पाकिस्तान हमेशा इतिहास के साथ छेड़छाड़ करता है.