गुजरात कांग्रेस के आरोप पर बोले जावड़ेकर

गुजरात कांग्रेस के आरोप पर बोले जावड़ेकर

कांग्रेस ने गुजरात से बंगलुरु के एक रिसॉर्ट में लाए गए अपने सभी विधायकों की मीडिया के सामने परेड कराई. पार्टी ने इस दौरान अपने विधायकों के असंतुष्ट होने की अटकलों को खारिज किया और साथ ही बीजेपी पर उसके विधायकों को खरीदने के लिए रिश्वत की पेशकश करने का आरोप लगाया. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि गुजरात कांग्रेस विधायकों द्वारा बीजेपी पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाना 'उल्टा चोर कोतवाल को डांटे' वाली बात है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का कमज़ोर पड़ना बीजेपी की गलती नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस विधायक मौज-मस्ती कर रहे हैं, जबकि बीजेपी विधायक राज्य में बाढ़ पीड़ितों को राहत पहुंचाने में व्यस्त हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता शक्तिसिंह गोहिल ने दावा किया कि बीजेपी ने 8 अगस्त को राज्यसभा की तीन सीटों के लिए गुजरात में होने वाले चुनाव के दौरान क्रॉस-वोटिंग के लिए उसके 22 विधायकों को 15 करोड़ रुपये की पेशकश कर 'खरीदने' की कोशिश की.

दरअसल अपने छह विधायकों के पार्टी छोड़कर चले जाने से घबराई कांग्रेस गुजरात में राज्यसभा की तीन सीटों के लिए होने वाले चुनाव से पहले अपने 44 विधायकों को एकजुट रखने के मकसद से उन्हें बेंगलूर ले आई है. राज्य में एक राज्यसभा सीट पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल चुनाव लड़ रहे हैं.

विधानसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक बलवंत सिंह राजपूत सहित छह विधायकों के इस्तीफे से पहले पूर्व मुख्यमंत्री शंकरसिंह वाघेला ने पार्टी से इस्तीफा दिया था. इन इस्तीफों से विधानसभा में कांग्रेस विधायकों की संख्या 57 से घटकर 51 हो गई. बाद में इन छह में से तीन विधायक बीजेपी में शामिल हो गए. वाघेला के रिश्तेदार राजपूत को बीजेपी ने अहमद पटेल के खिलाफ अपना उम्मीदवार बनाया है.