अमृतसर ट्रेन हादसे के ड्राइवर ने बताया, आखिर क्यों नहीं रोकी थी ट्रेन

अमृतसर ट्रेन हादसे के ड्राइवर ने बताया, आखिर क्यों नहीं रोकी थी ट्रेन

पंजाब के अमृतसर (Amritsar) में हुए ट्रेन हादसे में नया तथ्य सामने आया है. ट्रेन के ड्राइवर ने अपना लिखित बयान दिया है.  ड्राइवर ने अपने बयान में बताया ''वह जालंधर से चला था. मानावाला से निकला और अचानक ट्रैक पर लोग दिखे. जैसे ही उसने देखा ब्रेक लगाया, लेकिन गाड़ी की स्पीड कंट्रोल करते करते लोगों से टक्कर हो गई. गाड़ी पूरी तरह से रुकी नहीं थी कि पीछे से पब्लिक ने अटैक करना शुरू कर दिया. गार्ड ने उसे बताया कि पब्लिक ने अटैक करना शुरू कर दिया है. ऐसे में यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए उसने ट्रेन नहीं रोकी”. जानकारी के मुताबिक ड्राइवर से पूछताछ हुई है, लेकिन हिरासत में नहीं लिया गया है. रेलवे ने सुरक्षा कारणों से ड्राइवर की पहचान बताने से इनकार कर दिया है. 

आपको बता दें कि पंजाब के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरे के दिन रावण दहन देखने आए लोगों की खुशी अचानक मातम में बदल गई. अमृतसर में जोड़ा फाटक के पास शुक्रवार की शाम रावन दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से 59 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और 50 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं, जिनमें कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है. दरअसल, अमृतसर के जोड़ा फाटक के पास शुक्रवार की शाम दशहरा (Dussehra 2018) के मौके पर रावण दहन देखने के लिए बड़ी संख्या में भीड़ उमड़ी थी. लोग रेल की पटरियों पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे, तभी अचानक तेज रफ्तार में ट्रेन आई और सैकड़ों लोगों को कुचलती हुई चली गई. ट्रेन जालंधर से अमृतसर आ रही थी तभी जोड़ा फाटक पर यह हादसा हुआ.