जयपुर में हो सकते हैं IPL मैच, राजस्थान रॉयल्स की 2 साल बाद होगी जोरदार वापसी!

जयपुर में हो सकते हैं IPL मैच, राजस्थान रॉयल्स की 2 साल बाद होगी जोरदार वापसी!

सब कुछ ठीक ठाक रहा तो प्रदेश के क्रिकेट प्रेमियों के लिए जयपुर में आगामी आईपीएल मैचे देखने को मिल सकेंगे. राजस्थान रॉयल्स की वापसी के बाद ये घरेलू टीम जयपुर के एसएमएस स्टेडियम पर खेलती नजर आएंगी. रॉयल्स टीम के मालिक तो तैयार हैं.

इधर, आरसीए के पदाधिकारी भी दावा कर रहे हैं कि आपसी मनमुटाव भुलाकर वे फिर से एक होंगे. उम्मीदें है कि बीसीसीआई का बैन हटकर आरसीए का संचालन भी जल्द हो सकेगा.

जयपुर में 2013 के बाद आईपीएल मैच नहीं हो सके हैं. दो साल से राजस्थान की टीम राजस्थान रॉयल्स पर भी प्रतिबंध लगा था. हालांकि रॉयल्स पर बैन अब हट चुका है, लेकिन आरसीए के विवाद का निपटारा नहीं हुआ. ऐसे में यहां बीसीसीआई का बैन बदस्तूर जारी है. लेकिन शनिवार को जब बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना आरसीए पहुंचे तो विवादों के हल होने की उम्मीद जागी.

वहीं, इस दौरान राजस्थान रॉयल्स टीम के मालिक मनोज बदाले ने भी एसएमएस स्टेडियम का जायजा लिया. बदाले ने कहा कि वे जयपुर में आईपीएल के सभी सात मैचों की संभावनाएं देखते हैं क्योंकि टीम का होम ग्राउंड उनके लिए बेहद भाग्यशाली रहा है.

बदाले ने ये भी कहा कि स्टेडियम की देखभाल पर फिलहाल काफी इनवेस्टमेंट करना होगा. वे इन दिनों बेहतर कोच और कप्तान की तलाश में हैं, जबकि खिलाड़ियों की निलामी जनवरी में होगी, तब तक वे अच्छे खिलाड़ियों पर नजर रख रहे हैं.

आरसीए में जारी विवादों के घमासान के बीच जोशी ग्रुप और सचिव नांदू भी अब एक स्वर में राग मिलाते नजर आ रहे हैं. दोनों का दावा है कि आरसीए के विवादों का निपटारा जल्द हो सकेगा. सचिव नांदू ने बीसीसीआई के खिलाफ कोर्ट में लंबित सभी मामले वापस लेने की बात कही है.

वहीं जोशी ग्रुप से आरसीए के संयुक्त सचिव महेन्द्र नाहर ने कहा कि बीसीसीआई से वार्ता के बाद उन्हें सभी विवादों का निपटारा होने की उम्मीद है. दोनों अपने मनमुटाव भुलाने की बात कही है.

जयपुर में आईपीएल के मैचों के आयोजन के लिए सरकार की ओर से खुद खेलमंत्री गजेन्द्र सिंह खींवसर ये बात पहले ही कह चुके हैं कि यहां मैच हर हाल में कराएंगे. वहीं, अब बीसीसीआई एक्टिंग प्रेसिंडेंट और रॉयल्स ऑनर के स्टेडियम के दौरे के बाद ये उम्मीदें और मजबूत हुई हैं. हालांकि इससे पहले आरसीए के विवाद खत्म होने का सभी को इंतजार है.