बिहार की  निशानेबाज श्रेयसी सिंह को मिलेगा अर्जुन पुरस्कार

बिहार की  निशानेबाज श्रेयसी सिंह को मिलेगा अर्जुन पुरस्कार

अर्जुन पुरस्कार जीतने वाली बिहार की पहली महिला खिलाड़ी होने का गौरव हासिल करने वाली निशानेबाज श्रेयसी सिंह ने कहा कि एक खिलाड़ी के लिए इससे बड़ा सम्मान कोई और नहीं सकता। एक-दो गोल्ड या दर्जनों पदक तो सभी जीतते हैं। मैंने भी कई पदक अब तक के कॅरियर मे जीते हैं। लेकिन, अर्जुन पुरस्कार पाकर संपूर्ण और सफल एथलीट होने का गर्व महसूस हो रहा है।

श्रेयसी ने कहा कि यह मुकाम हासिल करने में उनके पिता स्व. दिग्विजय सिंह की अहम भूमिका रही। उनके जाने के बाद मां ने पिता की कमी महसूस नहीं होने दी और साए की तरह साथ रहकर इस मुकाम तक पहुंचाया।

दोगुने उत्साह से करूंगी मेहनत

अर्जुन पुरस्कार के लिए श्रेयसी के नाम की सिफारिश तीन दिन पूर्व की गई थी, जिसपर खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने गुरुवार को मुहर लगा दी। इसपर खुशी जताते हुए श्रेयसी ने कहा कि गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद एशियाड और दक्षिण कोरिया में विश्व चैंपियनशिप में जो निराशा हाथ लगी थी। उससे उबरने में और ओलंपिक की राह आसान करने में यह पुरस्कार मदद करेगा। 2022 ओलंपिक क्वालीफाइंग में अब भी एक साल का समय है और मैं दोगुने उत्साह के साथ अर्जुन की तरह उस लक्ष्य को पाने का प्रयास करूंगी।

अब ओलंपिक में पदक है सपना

पिछले 29 अगस्त को खेल दिवस पर बिहार सरकार की ओर से राज्य श्रेष्ठ सम्मान और अब अर्जुन पुरस्कार पाने के बाद अगला टारगेट आपका क्या है, इस पर श्रेयसी ने कहा कि ओलंपिक में पदक और सम्मान में राजीव गांधी खेल रत्न पाने का सपना है। मैं अपने सपने का साकार करने के लिए जमकर मेहनत करूंगी।

खूब मेहनत करें बिहार के खिलाड़ी  

 बिहार के खिलाडिय़ों ने लिए संदेश देते हुए श्रेयसी ने कहा कि वे खूब मेहनत हो करें। मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती है। उन्होंने कहा कि बिहार की शूटिंग के खिलाड़ी को अगर हमारी जरूरत होगी तो उनके लिए मैं हमेशा तैयार हूं। बिहार आने के बारे में श्रेयसी सिंह ने कहा कि अभी तो मैं नई दिल्ली में  शूटिंग पर फोकस कर रही हूं। दशहरा में घर जमुई आऊंगी ।