युवा फेसबुक अकाउंट को कर रहे हैं बाय-बाय, महिलाएं कर रही हैं WELCOME

युवा फेसबुक अकाउंट को कर रहे हैं बाय-बाय, महिलाएं कर रही हैं WELCOME

युवाओं और अकेले रह रहे लोगों के अपने फेसबुक अकाउंट को निष्क्रिय करने पर विचार करने की संभावना अधिक है. इस संबंध में किये गए एक नये अध्ययन में यह दावा किया गया है कि अधेड़ महिलाएं इस सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट की सबसे आम उपयोगकर्ताओं में शामिल हैं. अमेरिका के लेघ विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं ने फेसबुक के इस्तेमाल को प्रभावित करने वाले जनसांख्यिकीय और सामाजिक आर्थिक कारकों का अध्ययन किया.  इस अध्ययन में अमेरिका के 1,000 घरों के 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों की प्रतिक्रिया को शामिल किया गया है.

अनुसंधान में दिखाया गया है कि फेसबुक के सबसे आम उपयोगकर्ताओं में 40 से 60 वर्ष तक की एशियाई मूल की ऐसी विवाहित महिलाएं शामिल हैं , जो किसी तरह के रोजगार की तलाश नहीं कर रही हैं. फेसबुक को निष्क्रिय करने के बारे में प्राप्त आंकड़ों में कहा गया है कि युवा , नौकरी की तलाश कर रहे लोग और अविवाहित इस विकल्प पर विचार कर रहे हैं या उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट को निष्क्रिय कर दिया है.  

फेसबुक ने उठाया बड़ा कदम, 'फेक यूजर्स' अब अकाउंट इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे
दिग्गज सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने कहा कि उसने दुनियाभर में कहीं भी होने वाले आम चुनाव में अपने नेटवर्क के जरिए बाहरी दखलंदाजी को रोकने के लिये कई कदम उठाये हैं. इसके लिए उसने फर्जी फेसबुक खातों पर रोक, इस मंच के दुरुपयोग को रोकने के लिए सक्रिय कार्रवाई और विज्ञापन में पारदर्शिता लाने जैसी पहल शामिल है. फेसबुक के जन सम्पर्क विभाग के प्रमुख समिध चक्रवर्ती ने कहा कि कंपनी ने पूरी दुनिया में फर्जी खबरों के प्रसार से निपटने के लिये इस वर्ष की पहली छमाही में कुछ कदम उठाए हैं. इनमें इटली, कोलंबिया, तुर्की और यहां तक कि अमेरिका के मध्यावधिक चुनावों मद्दे नजर की गयी पहल भी शामिल हैं.

 

चुनाव पर फेसबुक का फोकस
चक्रवर्ती के अनुसार फेसबुक इस वर्ष के अंत तक दुनियाभर में 50 से अधिक राष्ट्रीय चुनावों पर ध्यान केंद्रित करेंगी. मशीन लर्निंग का उपयोग करके फेसबुक को अधिक प्रभावी तरीके से फर्जी खातों को बंद करने या हटाने में मदद मिली है. चक्रवर्ती ने कहा कि हम अभी उस स्तर पर है कि प्रतिदिन लाखों खातों को बनाये जाने के समय की रोक सकते हैं. ऑनलाइन राजनीतिक विज्ञापन के लिये हम पारदर्शिता में इजाफा करना जारी रखेंगे. 

17 देशों में जांच करती रहेगी फेसबुक
फर्जी सूचनाओं और खबरों से निपटने के लिये फेसबुक 17 देशों में 27 थर्ड पार्टी भागीदारों के साथ मिलकर तथ्यों की जांच करना जारी रखेगा. चक्रवर्ती ने कहा कि अंतत : फेसबुक अपने प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग की सक्रिय निगरानी कर रही है. हम अभिकलन से जुड़ी शक्तिशाली प्रौद्योगिकी को लागू करने में सक्षम है. इनका इस्तेमाल पारंपरिक रूप से स्पैम से लड़ने के लिये किया जाता है.