Nokia के इन स्मार्टफोन्स के लिए रोल आउट हुआ Android 9

Nokia के इन स्मार्टफोन्स के लिए रोल आउट हुआ Android 9

Google के ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉइड का लेटेस्ट वर्जन Android 9.0 Pie, 8 अगस्त से रोल आउट हो गया है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम को सबसे पहले गूगल के स्मार्टफोन्स Google Pixel, Google Pixel XL, Google Pixel 2 और Google Pixel 2 XL के लिए रोल आउट किया गया । इसके साथ ही गूगल के अपकमिंग स्मार्टफोन्स Pixel 3 और Pixel 3 XL भी इस लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ लॉन्च होंगे। अब, गूगल ने इस ऑपरेटिंग सिस्टम को नोकिया के लिए रोल आउट किया है।

Nokia

HMD Global के फ्लैगशिप वाली नोकिया के 2018 में लॉन्च हुए स्मार्टफोन्स एंड्रॉइड वन कार्यक्रम का हिस्सा है। गूगल ने नोकिया के एंड्रॉइड वन प्लेटफार्म वाले सभी नोकिया डिवाइस पर एड्रॉइड का लेटेस्ट अपडेट दिया जाएगा। इसके साथ ही मंथली सिक्युरिटी पैच भी दिया जाएगा। गूगल ने Nokia 7 Plus के लिए सबसे पहले Android 9.0 Pie का अपडेट रोल आउट किया था। अब नोकिया Nokia 6.1, Nokia 6.1 Plus, Nokia 8 और Nokia 8 Sirocco के लिए भी Android 9.0 Pie का अपडेट रोल आउट कर दिया गया है। इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम के अपडेट के बाद इन डिवाइस का यूजर इंटरफेस बदल जाएगा। साथ ही कुछ खास नए फीचर्स भी जुड़ जाएंगे। आइए, जानते हैं इन फीचर्स के बारे में

Android 9 या Pie के 5 महत्वपूर्ण फीचर्स

प्रदर्शन (जेस्चर)

सबसे पहले हम इस ऑपरेटिंग सिस्टम के लुक या प्रदर्शन की बात करते हैं। इसके जेस्चर की बात करें तो पहली बार एंड्रॉइड के होम बटन को रिप्लेस करके छोटे से हैंडल को लगाया गया है। साथ ही इसका ऐप स्वीचर आइफोन एक्स की तरह ही होरिजोनटली स्क्रॉल होता है। यानी की यह नया फीचर एंड्रॉइड यूजर्स को जरूर आकर्षक लगेगा। गूगल का मुख्य फोकस नए फीचर्स के जरिए यूजर्स के लिए स्मार्टफोन मैनेजमेंट ज्यादा सुविधाजनक बनाने पर है।

अडेप्टिव बैटरी और अडेप्टिव ब्राइटनेस फीचर

इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम में गूगल ने एडेप्टिव बैटरी और एडेप्टिव ब्राइटनेस फीचर्स दिया है। एडेप्टिव बैटरी फीचर्स के जरिए स्मार्टफोन की बैटरी लाइफ बेहतर बनाने पर जोर दिया गया है। नया ऑपरेटिंग सिस्टम स्मार्टफोन के बैटरी लाइफ के साथ सीपीयू परफार्मेंस भी सुधारने का काम करेगा।

नए गूगल असिस्टेंस फीचर से होगा लैस

इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम गूगल असिस्टेंस से लैस होगा। जिसके जरिए आप अपने स्मार्टफोन से इंसानों की तरह ही वार्तालाप कर सकेगें। इसके लिए गूगल ने 6 नई आवाजें भी जोड़े हैं।

ऐप के लिए सेट कर सकेंगे टाइम लिमिट

गूगल के इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम के जरिए आप ऐप के इस्तेमाल की टाइम लिमिट सेट कर सकेंगे। अगर यूजर्स किसी ऐप पर ज्यादा टाइम बिताएगा तो यह ऑपरेटिंग सिस्टम यूजर्स को बताएगा कि आपने इस ऐप पर इतना समय बिताया है जो यूजर्स को टाइम मैनेजमेंट करने की सहूलियत प्रदान करेगा।