Gmail चलाने वालों को खुश कर देगा गूगल का ये कदम, पिचाई ने किया ऐलान

Gmail चलाने वालों को खुश कर देगा गूगल का ये कदम, पिचाई ने किया ऐलान

गूगल के सालाना सबसे बड़े इवेंट Google I/O 2018 में कई ऐसे ऐलान किए गए, जो गूगल या जीमेल और इससे जुड़े प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने वालों को खुश कर सकते हैं. गूगल ने आने वाले महीने में कई नए प्रोडक्ट और फीचर्स लॉन्च करने की घोषमा की. कॉन्फ्रेंस में एंड्रॉएड P से लेकर डिजिटल वैलबीइंग और नेविगेशन विद कैमरा जैसे फीचर्स भी शामिल हैं. गूगल ने Gmail के लिए स्मार्ट कंपोज फीचर लॉन्च किया है. AI पर आधारित यह फीचर कंपनी के स्मार्ट रिप्लाई पर बेस्ड है. Gmail में इस महीने के आखिर में स्मार्ट कंपोज आएगा. 

और क्या-क्या हुआ
पिचई ने कहा कि हर दिन गूगल फोटोज पर 5 अरब फोटो देखी जाती हैं. उन्होंने कहा कि Google फोटोज आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का इस्तेमाल करते हुए डॉक्यूमेंट को PDF में कंवर्ट कर सकता है. इसके अलावा, गूगल फोटोज कलर के साथ मोनोक्रोम पिक्चर्स क्रिएट कर सकता है. पिचई ने कहा कि यह मशीन कंप्यूटिंग का एक सशक्त उदाहरण है. इवेंट में गूगल ने टेंसर प्रोसेसर यूनिट (TPU) वर्जन 3.0 लॉन्च किया.

गूगल असिस्टेंट में छह नई वॉयस
गूगल असिस्टेंट में छह नई वॉयसेज जुड़ी हैं, क्योंकि कंपनी AI को इंसानों के बातचीत करने के तरीके के और करीब लाना चाहती है. पिचई ने कहा कि गूगल AI को और सटीक बनाना चाहती है. गूगल असिस्टेंट जल्द ही जॉन लेजेंड की आवाज में जवाब देगा. इस अपडेट को इस साल के आखिर में लाया जाएगा. पिचई ने बताया कि लॉन्च के बाद से भारत में गूगल असिस्टेंट का इस्तेमाल तीन गुना बढ़ गया है. गूगल अपने असिस्टेंट प्लेटफॉर्म के फैमिली एक्सपीरियंस में सुधार ला रहा है.

नैविगेशन के साथ कैमरा VPS
विजुअल पॉजिशनिंग सिस्टम में स्मार्टफोन के कैमरा के जरिए नेविगेट किया जा सकेगा. इस फीचर में कैमरे के इस्तेमाल के जरिए ये पता किया जा सकेगा कि आप कहां हैं और आपको कहां जाने की जरुरत है. यह सबकुछ गूगल जल्द ही लाने वाला है. 

हेल्थकेयर के लिए AI की मदद लेगा गूगल
सुंदर पिचाई ने हेल्थकेयर समेत अलग-अलग कैटेगरीज में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के बढ़ते इस्तेमाल का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि Google AI कार्डिक प्रॉब्लम को पहचानने में मदद कर रहा है. पिचई ने कहा कि गूगल अपने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के लिए हेल्थ इंस्टीट्यूशंस और हॉस्पिटल्स के साथ साझेदारी करेगा. Google के Gboard की-बोर्ड को जल्द ही मोर्स कोड सपोर्ट मिलेगा. मंगलवार को हुई इवेंट में इसके beta वर्जन को रिलीज किया गया.

 

गूगल लेंस में बेहद खास फीचर्स
कॉन्फ्रेंस में पेश किया गया यूजर्स के लिए बेहद खास और काम का फीचर है. गूगल लेंस में एक ऐसा अपडेट आया है जो लिखें हुए शब्दों की पहचान कर सकेगा. आसान भाषा में कहें तो अगर आपने किताब पर Wifi का पासवर्ड लिखा है और आप अपने फोन कैमरे से उसे देखते हैं तो गूगल लेंस उस टेक्स्ट को कॉपी कर लेगा और आपके स्मार्टफोन में ये पासवर्ड पेस्ट हो जाएगा. गूगल ने बताया कि गूगल लेंस को अब दूसरी कंपनियों के एंड्रॉयड स्मार्टफोन के डिफॉल्ट कैमरा ऐप में दिया जाएगा.