मालदीव के राष्ट्रपति अबदुल्ला यामीन ने देश में लगाया आपातकाल

मालदीव के राष्ट्रपति अबदुल्ला यामीन ने देश में लगाया आपातकाल

मालदीव के राष्ट्रपति अबदुल्ला यामीन ने देश में 15 दिनों के लिए आपातकाल लगा दिया है। यामीन ने विपक्षी नेताओं की रिहाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट का आदेश मानने से इंकार कर दिया था। इसके बाद हजारों की संख्‍या में लोग सड़कों पर उतर आए। इससे पहले रविवार को सुप्रीम कोर्ट ने पुनर्विचार के लिए दायर की गई सरकार की याचिका खारिज कर दी थी। चीफ जस्टिस ने अपने आदेश में कहा कि सरकार को सुप्रीम कोर्ट का आदेश मानना ही होगा। इसके बाद पुनर्विचार किया जा सकता है। अब इसको लेकर सरकार और सुप्रीम कोर्ट के बीच टकराव के हालात पैदा हो गए हैं। चीफ जस्टिस ने जान की धमकियां मिलने का आरोप भी लगाया है। विपक्ष ने राष्‍ट्रपति पर चीफ जस्टिस और अन्‍य जजों को धमकाने का आरोप लगाया है। विपक्ष का कहना है कि यह लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा है। फिलहाल चीफ जस्टिस व अन्‍य जजों ने सुप्रीम कोर्ट में ही शरण ले रखी है और रात में वहीं रह रहे हैं।